Loading...
item-thumbnail

नफ़ीसा : आलोक कुमार मिश्रा की नयी कहानी

  एक अकेली, वृद्धा स्त्री अक्सर समाज की  निर्ममता का सबसे बड़ा शिकार बन जाती है लेकिन प्रेम उसके जीवन के गहन अंधकार को भी आलोकित करता रहता है...

item-thumbnail

कब्बर में जाणी : तसनीम खान की नयी कहानी

तसनीम खान आज की महत्वपूर्ण और संवेदनशील रचनाकार हैं। उनकी कहानियों में अपने अधिकारों के लिए संघर्षरत स्त्री पात्र मिलती हैं जो हालात से समर्...

item-thumbnail

फिरोज़ मंज़िल की रोमिला: राजेश्वर वशिष्ठ की नयी कहानी

राजेश्वर वशिष्ठ की कविताओं में स्त्री और प्रेम अपने विविध रूपों में मौजूद रहते हैं।  उनका गद्य भी बेहद आकर्षक और तरल होता है। मेराकी पर पढ़...

item-thumbnail

दूध : भूमिका द्विवेदी की नयी कहानी

भूमिका द्विवेदी हिन्दी साहित्य की एक सुपरिचित युवा नाम हैं जो लगातार अपनी सार्थक रचनाओं द्वारा सकारात्मक हस्तक्षेप कर रहीं हैं। सामाजि...

item-thumbnail

पवित्रा : सपना सिंह की कहानी

सपना सिंह हिन्दी कहानी की एक सुपरिचित नाम हैं। मेराकी पर पढ़ते हैं , उनकी एक नयी कहानी -पवित्रा , जहाँ घरेलू हिंसा और स्त्री शोष...

item-thumbnail

सीता की उत्तरगाथा

महाकाव्य एक सामंती विधा है जहां हाशिये के लोगों के लिए विशेष जगह नहीं बचती। सामंतवाद और पितृसत्ता में गठजोड़ रहता है। पितृसत्ता की...

item-thumbnail

साल ही तो बदला है: सोनाली मिश्र की नयी कहानी

  सोनाली मिश्र युवा हिन्दी कहानी की एक सुपरिचित नाम हैं। उनकी कहानियों में मानव मन की गुत्थियों की गहन पड़ताल रहती है। मानवीय संवेदनाओं...

Home archive

Meraki Patrika On Facebook

इन दिनों मेरी किताब

Popular Posts

Labels